Skip to content

जय श्री श्याम जय मोरवीनंदन खाटूश्याम स्तुति कृष्ण भजन लिरिक्स

  • by
0 2510

जय श्री श्याम जय मोरवीनंदन

श्लोक – मोरवीनंदनम वन्दे
वन्दे श्रीकृष्ण रूपिणम
शीशदानिम सदा वन्दे
पाप ताप निवारिणम।

जय श्री श्याम जय मोरवीनंदन
जय लीले असवारी की।।

परम तपस्वी शक्ति का साधक
माँ दुर्गा का तू आराधक
परम शक्ति से प्राप्त परमवर
तीन बाण के धारी की
जय श्रीं श्याम जय मोरवीनंदन
जय लीले असवारी की।।

बर्बरीक हारे का सहारा
स्वयं विधाता तुझसे हारा
बिंधा पीपल का हर पत्ता
अचरज विस्मयकारी की
जय श्रीं श्याम जय मोरवीनंदन
जय लीले असवारी की।।

स्वयं श्याम ने तुझको जांचा
दिया प्रमाण दान का साँचा
स्वयं काटकर शीश के दाता
मोहन पर बलिहारी की
जय श्रीं श्याम जय मोरवीनंदन
जय लीले असवारी की।।

नाम रूप गुण कृष्ण का पाया
खाटू को तूने धाम बनाया
खीर चूरमा सवामणी और
प्रेम भाव आहारी की
जय श्रीं श्याम जय मोरवीनंदन
जय लीले असवारी की।।

जय श्री श्याम जय मोरवीनँदन
जय लीले असवारी की।।

  1. बाबा तुमसा दयालु देव दुजा नहीं है भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  2. खाटू धाम की माटी म्हारै रास आ गई भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  3. कान्हा तेरे चरणों में कर के प्रणाम भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  4. रंग बरसे नाचे कृष्ण मुरारी रंग बरसे भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  5. कभी आया साथी बनकर भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  6. ओ कान्हा रे आजा रे कृष्ण भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  7. कैया रिझे श्याम रिझाणों कोणी जानू मैं भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  8. कैया रिझे श्याम रिझाणों कोणी जानू मैं भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  9. सांवरे तुमको पाना बता क्या करे भजन कृष्ण भजन लिरिक्स

Leave a Reply

Your email address will not be published.