Skip to content

जय जय जय हे गणपति तुम्हारी भजन लिरिक्स

fb-site

गणेश भजन जय जय जय हे गणपति तुम्हारी भजन लिरिक्स
तर्ज – जय जय हे जगदम्बे माता।

जय जय जय हे गणपति तुम्हारी,
तीन लोक के हो तुम दाता,
तीन लोक के हो तुम दाता,
महिमा सबसे है प्रभू न्यारी,
जय जय जय हे गणपति तुम्हारी।।

जब जब भक्त ने तुमको पुकारा,
आकर तुमने दिया है सहारा,
तुम देवो के देव गजानन्द,
भक्तो के हितकारी,
जय जय जय हे गणपति तुम्हारी।।

तूम ही सबके भाग्य विधाता,
रिद्धि सिद्धी के हो तुम दाता,
धन्य वो प्राणी जिसने दाता,
कृपा पाई तुम्हारी,
जय जय जय हे गणपति तुम्हारी।।

तुम दीनो के नाथ हो स्वामी,
तुम ही हो प्रभू अँतर्यामी,
मै मूरख आया चरणो में,
पानै शरण तुम्हारी,
जय जय जय हे गणपति तुम्हारी।।

जय जय जय हे गणपति तुम्हारी,
तीन लोक के हो तुम दाता,
तीन लोक के हो तुम दाता,
महिमा सबसे है प्रभू न्यारी,
जय जय जय हे गणपति तुम्हारी।।

1 thought on “जय जय जय हे गणपति तुम्हारी भजन लिरिक्स”

  1. Pingback: ओम जय जगदीश हरे आरति लिरिक्स - Fb-site.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.