जब श्याम की यादें आती है भजन लिरिक्स

जब श्याम की यादें आती है,
तब राधा यूं घबराती है।।

राह तुम्हारी तक तक कर,
आंख भी थक थक जाती है,
जब पाए न दर्शन-२,
आंख तुम्हारे,
झर झर नीर बहाती हैं,
जब श्याम की यादे आती है,
तब राधा यूं घबराती है।।

तुम बिन सूना है जीवन,
तुम बिन सूना आंगन है,
पर हे मन मोहन-२
‘शिव’ को प्रीतम,
तेरी याद सताती है,
जब श्याम की यादे आती है,
तब राधा यूं घबराती है।।

जब श्याम की यादें आती है,
तब राधा यूं घबराती है।।

Leave a Reply