Skip to content

घनश्याम म्हारे हिवड़े में रम जाओ प्यारा श्याम कृष्ण भजन लिरिक्स

  • by
0 965

घनश्याम म्हारे हिवड़े में,
रम जाओ प्यारा श्याम,
मैं दास छू चरण कमल रो,
ओ जी प्यारा श्याम,
घनश्याम म्हारे हिवडे में,
रम जाओ प्यारा श्याम।।

जीवन नैया दास की,
डूब रही मझधार,
जाने कइया होवेली,
भवसागर से पार,
घनश्याम म्हारो बेड़ो,
पार लगाओ प्यारा श्याम,
घनश्याम म्हारे हिवडे में,
रम जाओ प्यारा श्याम।।

मोह माया का जाल में,
दुःख पाऊँ दीन रेन,
दर्शन दीजो सांवरा,
व्याकुल छे दो नैन,
घनश्याम थारो नटवर,
वेश दिखाओ प्यारा श्याम,
घनश्याम म्हारे हिवडे में,
रम जाओ प्यारा श्याम।।

करुणा सागर आप हो,
शरणागत प्रतिपाल,
मैं शरणागत दास हूँ,
काटो भव जंजाल,
घनश्याम म्हारो आवागमन,
मिटाओ प्यारा श्याम,
घनश्याम म्हारे हिवडे में,
रम जाओ प्यारा श्याम।।

इ थांका ब्रह्माण्ड में,
लख चौरासी जूण,
करनी का फल भोगता,
पाई मिनखा जूण,
घनश्याम अब तो थांके,
धाम बुलावो प्यारा श्याम,
घनश्याम म्हारे हिवडे में,
रम जाओ प्यारा श्याम।।

जय मुरलीधर मोहना,
जय ब्रज माखनचोर,
जय जय नटवर प्राणधन,
जय जय नन्द किशोर,
घनश्याम दास युगल रा नाथ,
कहावो प्यारा श्याम,
घनश्याम म्हारे हिवडे में,
रम जाओ प्यारा श्याम।।

घनश्याम म्हारे हिवड़े में,
रम जाओ प्यारा श्याम,
मैं दास छू चरण कमल रो,
ओ जी प्यारा श्याम,
घनश्याम म्हारे हिवडे में,
रम जाओ प्यारा श्याम।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.