Skip to content

खाटू कितनी दूर भजन कृष्ण भजन लिरिक्स

  • by
0 1475

माये नी मेरीये,
बाबे दी गलियाँ,
खाटू कितनी दूर,
जयपुर नि वसना,
रिंगस नि वसना,
खाटू तो जाणा जरुर,
माये नी मेरीये,
बाबे दी गलियाँ,
खाटु कितनी क दूर।।

खाटू दी गलियाँ,
सपणे च ओंदी,
अखियां च छाया सुरूर,
माये नी मेरीये,
बाबे दी गलियाँ,
खाटु कितनी क दूर।।

ओदी ही करनी,
हाँ मैं जी हजूरी,
मालिक ओ मेरा हुजूर,
माये नी मेरीये,
बाबे दी गलियाँ,
खाटु कितनी क दूर।।

मैं ता बाबे दे,
मंदर नू जासा,
ओ मेरी अखियाँ दा नूर,
माये नी मेरीये,
बाबे दी गलियाँ,
खाटु कितनी क दूर।।

माये नी मेरीये,
बाबे दी गलियाँ,
खाटू कितनी क दूर,
जयपुर नि वसना,
रिंगस नि वसना,
खाटू तो जाणा जरुर,
माये नी मेरीये,
बाबे दी गलियाँ,
खाटु कितनी क दूर।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.