Skip to content

खाटु नगरी श्याम बुलाए दौड़े दौड़े जाए हमें क्या हो गया है

  • by
0 1755

खाटु नगरी श्याम बुलाए,
दौड़े दौड़े जाए,
हमें क्या हो गया है,
हमें क्या हो गया है,
ख़ुशी मनाए मंगल गाए,
श्याम शरण में आए,
सवेरा हो गया है,
सवेरा हो गया है।।

ओ मेरे श्याम जी,
ओ मेरे श्याम जी,
दे दे बहारे संसार को,
मुझको दे भक्ति तेरी,
दे दे सहारो तेरे नाम को,
नैन लड़ाए फिर मुस्काए,
तिरछी नजर लखाए,
हमें क्या हो गया है,
हमें क्या हो गया है।

खाटु नगरी श्याम बुलाये,
दौड़े दौड़े जाए,
हमें क्या हो गया है,
हमें क्या हो गया है।।

साँसे है तेरी भगवन,
साँसे है तेरी भगवन,
तुझ पे ही वारु मेरे श्याम जी,
चाहे विधाता तेरे,
चरणों में सिर मेरे श्याम जी,
श्याम श्याम मन ही मन गाएं,
सोलह श्रृंगार सजाए,
हमें क्या हो गया है,
हमें क्या हो गया है।

खाटु नगरी श्याम बुलाये,
दौड़े दौड़े जाए,
हमें क्या हो गया है,
हमें क्या हो गया है।।

ओ दीनानाथ जी,
ओ दीनानाथ जी,
सुनले फ़साने तेरे प्यार के,
रूह है दीवानी तेरी,
कहेगी फ़साने तेरे प्यार के,
क्यूँ इतराए लाढ़ लढाए,
श्याम भक्त हर्षाए,
हमें क्या हो गया है,
हमें क्या हो गया है।

खाटु नगरी श्याम बुलाये,
दौड़े दौड़े जाए,
हमें क्या हो गया है,
हमें क्या हो गया है।।

रामचंद्र हनुमान स्वामी,
तेरे दास जी,
रामचंद्र हनुमान स्वामी,
तेरे दास जी,
जयदेव नाथ बाबा,
दिनेश शेखावत,
तेरे ख़ास जी,
अल्वरिया नन्द राम शारदा,
श्याम कथा मन भाए,
हमें क्या हो गया है,
हमें क्या हो गया है।

खाटु नगरी श्याम बुलाये,
दौड़े दौड़े जाए,
हमें क्या हो गया है,
हमें क्या हो गया है।।

खाटु नगरी श्याम बुलाए,
दौड़े दौड़े जाए,
हमें क्या हो गया है,
हमें क्या हो गया है,
ख़ुशी मनाए मंगल गाए,
श्याम शरण में आए,
सवेरा हो गया है,
सवेरा हो गया है।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.