Skip to content

कोई तीरथ मेरे मन को भाता नहीं खाटू श्याम भजन कृष्ण भजन लिरिक्स

  • by
0 2575

कोई तीरथ मेरे मन को भाता नहीं
खाटू वाले का जबसे ये दर मिल गया
क्यों मैं भटकूं जहाँ में इधर और उधर
श्याम प्यारे का सच्चा ये दर मिला
कोईं तीरथ मेरे मन को भाता नहीं।।

मन के मंदिर में तुझको बिठा ही लिया
धड़कनो में तेरी बस यही नाम है
माला जपने की मुझको जरूरत नहीं
सर झुकाते ही जीवन का सुख मिल गया
श्याम जैसा कोई और दाता नहीं
खाटू वाले का सच्चा ये दर मिला
कोईं तीरथ मेरे मन को भाता नहीं।।

चाहे मस्तक पे रोली लगे ना लगे
इसकी ज्योति का चन्दन लगा जब लिया
श्याम के रंग में अपने को रंग ही लिया
घर में खुशियों का देखो चमन खिल गया
रंग चढ़के उतर ये तो जाता नहीं
श्याम प्यारे का सच्चा ये दर मिला
कोईं तीरथ मेरे मन को भाता नहीं।।

छोड़ दी सारी दुनिया इसी के लिए
साथी मतलब का अबतक ना कोई मिला
आरजू मुझको जन्नत की है ही नहीं
जबसे खाटू को देखा सुकून मिल गया
रस्ता कोई नज़र और आता नहीं

श्याम प्यारे का सच्चा ये दर मिला
कोईं तीरथ मेरे मन को भाता नहीं।।

कोई तीरथ मेरे मन को भाता नहीं
खाटू वाले का जबसे ये दर मिल गया
क्यों मैं भटकूं जहाँ में इधर और उधर
श्याम प्यारे का सच्चा ये दर मिला
कोईं तीरथ मेरे मन को भाता नहीं।।

  1. श्याम सलोने सुनले पुकार भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  2. साँवरे मेरी कलाई थाम लो इक बार भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  3. जीव ना भरयो मेरो मन ना भरयो भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  4. यो पांडव कुल अवतार बड़ो अलबेलो है भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  5. भगतों की नैया श्याम चलाता है भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  6. तेनु रोज बुलावांगे चित्र विचित्र भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  7. तुमसे कन्हैया मेरी प्रीत पुरानी भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  8. पी ले जरा तू जी ले जरा भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  9. हाथ कस के पकड़ ले मेरा सांवरे भजन कृष्ण भजन लिरिक्स

Leave a Reply

Your email address will not be published.