Skip to content

किरपा से तेरी सांवरे मेरे बन जाते काम है भजन कृष्ण भजन लिरिक्स

  • by
0 2197

किरपा से तेरी सांवरे,
मेरे बन जाते काम है,
मुझे चिंता नहीं है कोई,
तेरा जो साथ है,
किरपा से तेरी साँवरें,
मेरे बन जाते काम है।।

साँवरें, साँवरें, साँवरें, साँवरें,
साँवरें, साँवरें, साँवरें, साँवरें।

दरकार है किसी की कहाँ,
तुम जो साथ हो,
दुनिया से है क्या लेना मुझे,
तुमसे काम है,
किरपा से तेरी साँवरें,
मेरे बन जाते काम है।।

साँवरें, साँवरें, साँवरें, साँवरें,
साँवरें, साँवरें, साँवरें, साँवरें।

होंठो पे तेरा नाम मेरे,
हरदम हो साँवरे,
तेरा नाम तो सांवरे,
अमृत के समान है,
किरपा से तेरी साँवरें,
मेरे बन जाते काम है।।

साँवरें, साँवरें, साँवरें, साँवरें,
साँवरें, साँवरें, साँवरें, साँवरें।

चरणों में अपने मुझको सदा,
रखना तुम यूँ ही,
तुमने दिया ये जीवन,
तेरे ही नाम है,
किरपा से तेरी साँवरें,
मेरे बन जाते काम है।।

साँवरें, साँवरें, साँवरें, साँवरें,
साँवरें, साँवरें, साँवरें, साँवरें।

रहे प्रीत तुमसे मेरी कृपा,
ऐसी करो प्रभु,
चरणों में ही तुम्हारे मेरी,
अंतिम शाम हो,
किरपा से तेरी साँवरें,
मेरे बन जाते काम है।।

साँवरें, साँवरें, साँवरें, साँवरें,
साँवरें, साँवरें, साँवरें, साँवरें।

किरपा से तेरी सांवरे,
मेरे बन जाते काम है,
मुझे चिंता नहीं है कोई,
तेरा जो साथ है,
किरपा से तेरी साँवरें,
मेरे बन जाते काम है।।

साँवरें, साँवरें, साँवरें, साँवरें,
साँवरें, साँवरें, साँवरें, साँवरें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.