Skip to content

करो रे मन चलने की तैयारी भजन लिरिक्स

0 233

चेतावनी भजन लिरिक्स करो रे मन चलने की तैयारी भजन लिरिक्स

करो रे मन चलने की तैयारी,

दोहा – जाते नहीं है कोई,
दुनिया से दूर चल के,
आ मिलते हैं सब यहीं पर,
कपड़े बदल बदल के।

करो रे मन चलने की तैयारी,
चलने की तैयारी।।

आए हो तो जाना होगा,
आए हो तो जाना होगा,
शास्त्र नियम निभाना होगा,
शास्त्र नियम निभाना होगा,
सूरज नित प्रद करता रहता,
ढलने की तैयारी,
करों रे मन चलने की तैयारी।।

कितनों के अरमान अधूरे,
कितनों के अरमान अधूरे,
जाने कौन करेगा पूरे,
जाने कौन करेगा पूरे,
काल बली संकल्प कर चुका,
छलने की तैयारी,
करों रे मन चलने की तैयारी।।

हमसे कोई तंग ना होगा,
हमसे कोई तंग ना होगा,
महफिल होगी रंग ना होगा,
महफिल होगी रंग ना होगा,
गंगा के तट धू-धू कर,
जलने की तैयारी,
करों रे मन चलने की तैयारी।।

करों रे मन चलने की तैयारी,
चलने की तैयारी।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.