Skip to content

कभी फुर्सत हो धनवानो से श्याम भजन श्याम जी भजन लिरिक्स

  • by
0 3280

कभी फुर्सत हो धनवानो से
तो श्याम मेरे घर आ जाना
इस निर्धन की कुटिया में
एक शाम ओ श्याम बिता जाना
कभी फुरसत हो धनवानो से
तो श्याम मेरे घर आ जाना।।

फिल्मी तर्ज भजन : बाबुल की दुआएं लेती जा।

मैं निर्धन हूँ मेरे पास प्रभु
चूरमा मेवा ना मिठाई है
सोने के सिंहासन है तेरे
मेरे घर धरती की चटाई है
यहीं बैठके लखदातार मुझे
तुम अपनी कथा सूना जाना
कभी फुरसत हो धनवानो से
तो श्याम मेरे घर आ जाना।।

मुझको भी सुदामा के जैसा
तुम मित्र समझकर श्याम मेरे
मेरी आँख से बहते अश्को को
तुम इत्र समझकर श्याम मेरे
मेरी कुटिया में आकर मुझसे
तुम अपने चरण धुलवा जाना
कभी फुरसत हो धनवानो से
तो श्याम मेरे घर आ जाना।।

बड़ी तेज दुखो की आंधी है
मन घबराए ओ सांवरिया
संदीप की आस के दिप कहीं
बुझ ना जाए ओ सांवरिया
हारे के सहारे हो तुम तो
मुझ को भी धीर बंधा जाना
कभी फुरसत हो धनवानो से
तो श्याम मेरे घर आ जाना।।

कभी फुर्सत हो धनवानो से
तो श्याम मेरे घर आ जाना
इस निर्धन की कुटिया में
एक शाम ओ श्याम बिता जाना
कभी फुरसत हो धनवानो से
तो श्याम मेरे घर आ जाना।।

  1. ढूंढती फिरती हूँ तुझको कब मिलोगे सांवरे भजन श्याम जी भजन लिरिक्स
  2. कितना प्यारा दरबार सजा है जी करे देखता रहूं श्याम जी भजन लिरिक्स
  3. श्याम के दर पे जबसे हम जाने लगे भजन श्याम जी भजन लिरिक्स
  4. krishna bhajan lyrics hindi amazing
  5. जन्नत सी सजी नगरी चमक रहा दरबार भजन श्याम जी भजन लिरिक्स
  6. चाहे जैसे मुझे रख लो कुछ ना कहूँगा मैं भजन श्याम जी भजन लिरिक्स

Leave a Reply

Your email address will not be published.