आ जाओ माँ जगदम्बे तेरे भगत खड़े तेरे द्वार लिरिक्स

आ जाओ माँ जगदम्बे,
तेरे भगत खड़े तेरे द्वार,
पुकारें तुमको बारम्बार,
आ जाओ मां जगदम्बे।।

तुम मैया हम बालक तेरे,
कष्ट हरो सब मैया मेरे,
तड़फत हूँ मैं सांझ सबेरे,
आ जाओ मां जगदम्बे।।

बार बार तेरा रूप निरखते,
फिर भी न ये नैना थकते,
साल महीने से पल कटते,
आ जाओ मां जगदम्बे।।

पूजा अर्चना मैं क्या जानू,
तू है माँ बस इतना जानू,
तुमको अपना सबकुछ जानू,
आ जाओ मां जगदम्बे।।

मातु भवानी दुर्गे मैया,
पार करो मेरी जीवन नैया,
तुम बिन दूजा कौन खिबैया,
आ जाओ मां जगदम्बे।।

जय जय जय जगदम्बे माता,
दरश बिना मनवा आकुलता,
आजा आ राजेन्द्र बुलाता,
आजाओ मां जगदम्बे।।

आ जाओ माँ जगदम्बे,
तेरे भगत खड़े तेरे द्वार,
पुकारें तुमको बारम्बार,
आ जाओ मां जगदम्बे।।

दुर्गा माँ भजन आ जाओ माँ जगदम्बे तेरे भगत खड़े तेरे द्वार लिरिक्स
आ जाओ माँ जगदम्बे तेरे भगत खड़े तेरे द्वार लिरिक्स
तर्ज – आजा रे परदेसी।
गीतकार / गायक – राजेन्द्र प्रसाद सोनी।

Leave a Reply