Skip to content

आरती उतारो मारा शनिदेवनि || Aarti Utaro Mara Shanidevni Shani Dev Bhajan Full Hindi Lyrics By Anuradha Paudwal

  • by
fb-site

आरती उतारो मारा शनिदेवनि || Aarti Utaro Mara Shanidevni Shani Dev Bhajan Full Hindi Lyrics By Anuradha Paudwal

आरती उतारो मारा
शनिदेवनि आरती उतारो रे
सेवा ने स्वीकारो मारा
जय जय श्री शनि देवा

आरती उतारो मारा
शनिदेवनि आरती उतारो रे
सेवा ने स्वीकारो मारा
जय जय श्री शनि देवा
जय जय श्री शनि देवा

सूर्य सुतकारी कीर्ति आपार
शनि मूर्ति कोई पामणा पार
तारी पूजा तारी सेवा
करू सांज ने सवार

आरती उतारो मारा
शनिदेवनि आरती उतारो रे
जय जय श्री शनि देवा
जय जय श्री शनि देवा

नव ग्रहमा श्रेष्ठ ने सारा
मोटा प्रकाराम सहती तमारा
शनिवार ने अमासे
यही मेलो रे भरे

आरती उतारो मारा
शनिदेवनि आरती उतारो रे
जय जय श्री शनि देवा
जय जय श्री शनि देवा

शिंगणापुर गामे वास तमारो
शरणे तमारे आवे एने तमे तारो
करो कृपा तमे देवा
रंक राजा बनी जय

आरती उतारो मारा
शनिदेवनि आरती उतारो रे
जय जय श्री शनि देवा
जय जय श्री शनि देवा

श्री शंकर जीना वरदान करो
गर्व थयो छे रावणने घेरो
महादेव जीना वरदान करो
गर्व थयो छे रावणने घेरो

सदा साती बैठे त्यारे
तेना कुल नो नाश थे

आरती उतारो मारा
शनिदेवनि आरती उतारो रे
जय जय श्री शनि देवा
जय जय श्री शनि देवा

चमत्कार गुरु ने एवो बताव्यो
शूली सुधि ले जय आधार अपवयो
गुण गावा बसे तारा
एनो आवे नहीं पार

आरती उतारो मारा
शनिदेवनि आरती उतारो रे
जय जय श्री शनि देवा
जय जय श्री शनि देवा

राजा विक्रम हटो परोपकारी
गर्व कार्यो तो सजा करि भरी
एनी कीर्ति अपकीर्ति
एमा लागे नहीं वार

आरती उतारो मारा
शनिदेवनि आरती उतारो रे
जय जय श्री शनि देवा
जय जय श्री शनि देवा

Leave a Reply

Your email address will not be published.