Skip to content

आज्या री देबी माई महारे मकान में भजन लिरिक्स

  • by
0 1419

हरियाणवी भजन आज्या री देबी माई महारे मकान में भजन लिरिक्स
गायक – नरेन्द्र कौशिक।
तर्ज – आ जाओ भोले बाबा मेरे मकान में।

आज्या री देबी माई,
महारे मकान में,
तेरी फर फर झंडी फैरः,
सारे री जहान में,
आज्या री देबी माई।।

आज्या इब त आँख में,
आँसु भी आ गए,
आँसु भी आ गए,
तेरे होते जीवन में,
दुख क्युकर पा गए,
दुख क्युकर पा गए,
हम बालक बनके आए,
तेरे अस्थान में,
तेरी फर फर झंडी फैरः,
सारे री जहान में,
आज्या री देबी माई।।

आ ज्यावेगी त तन्नै,
दिल का हाल सुणाऊँगा,
दिल का हाल सुणाऊँगा,
ध्यानू की तरह मै,
तेरा बैटा कहलाऊँगा,
तेरा बैटा कहलाऊँगा,
तेरी जागः जोत ज्वाला,
सारे जग में करः उजाला,
मै रहुँ तेरे ध्यान में,
तेरी फर फर झंडी फैरः,
सारे री जहान में,
आज्या री देबी माई।।

तेरे दर प बालक आए,
माँ हमने प्यार दिए,
माँ हमने प्यार दिए,
नारियल चुनरी लयाए,
माँ तुं स्वीकार किए,
माँ तुं स्वीकार किए,
आज्या री जम्मु आली,
तेरी जग में शान निराली,
रहया तुमको मान में,
तेरी फर फर झंडी फैरः,
सारे री जहान में,
आज्या री देबी माई।।

तेरी जगमग ज्योती जागः,
तुं सबके संकट काटः,
तुं सबके संकट काटः,
जो तेरे दर प आवः,
तुं सबने खुशियां बांटः,
तुं सबने खुशियां बांटः,
तुं सबके संकट काटः,
भर भर बुकटे बांटः,
आ बैठ ध्यान में,
तेरी फर फर झंडी फैरः,
सारे री जहान में,
आज्या री देबी माई।।

आज्या री देबी माई,
महारे मकान में,
तेरी फर फर झंडी फैरः,
सारे री जहान में,
आज्या री देबी माई।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.